Kalyan Singh Biography In Hindi

हेलो दोस्तो बड़े ही दुख के साथ आप सभी को सूचित करना पड़ रहा है कि हमारे बड़े ही दिग्गज नेता माननीय  महामहीम कल्याण सिंह का स्वर्गवास दिनांक 21 अगस्त 2021 शनिवार शाम लखनऊ के संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्‍थान (एसजीपीजीआई) में निधन हो गया। कल्याण सिंह अपने आप में ही एक प्रसिद्ध हस्ती थे । परंतु ये उस वक्त सुर्खियों में आये जब इन्होंने लगभग तीन दशक पहले अयोध्या में बाबरी मस्जिद विध्वंस के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता कल्याण सिंह एक प्रमुख हिंदू नेता के तौर पर उभरे थे, परन्तु उस घटना के पश्चात कल्याण सिंह जी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद से अपना स्तीफा दे दिया था। कल्याण सिंह जी असाधारण प्रतिभा के धनी व्यक्ति थे। उनके राजनितिक करियर में बहुत उतार चढ़ाव देखने को मिलते है उनका निधन 89 वर्ष की आयु में लखनऊ के संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्‍थान (एसजीपीजीआई) में हो गया।

kalyan singh biography in hindi

राजनीतिक करियर शुरूआत

कल्याण सिंह के राजनीतिक करियार की शुरूआत वर्ष 1967 में हुई जब उन्हें अलीगढ़ जिले के अतरौली सीट से विधानसभा सदस्य पद के लिए चुना गया। राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ से जुड़कर कल्‍याण सिंह ने समाजसेवा के क्षेत्र में कदम रखा और इसके बाद जनसंघ की राजनीति में सक्रिय हो गये। इसके बाद 2002 तक दस बार विधायक बने।

प्रारम्भिक जीवन


भारतीय राजनैतिज्ञ माननीय कल्यान सिंह का जन्म गांव-माधौली, तहसील-अटरौली, जिला-अलीगढ़, उत्तर प्रदेश भारत में सन 1932 में 5 जनवरी को हुआ था। कल्याण सिंह के पिता का नाम तेजपाल सिंह लोधी एंव इनकी माता का नाम सीता देवी था। कल्याण सिंह जी के बेटे का नाम राजवीर सिंह हैं जो कि एक अच्छे पद पर कार्यरत है वर्तमान  में समाजवादी पार्टी में।

कल्याण सिंह जी की प्रारंभिक शिक्षा उनके गांव में ही उसके पश्यात् वह आगे की पढ़ाई के लिए अलीगढ़ के धर्म समाज महाविद्यालय से बी0 ए0 एंव एल0 एल0 बी0 की पढ़ाई करने के लिए चले गये। वही से इनके राजनैतिक करियर की शुरूआत हुई।

निजी जानकारी (Personal Information)

मूल नाम (Real Name)कल्याण सिंह  (kalyan singh)
उपनाम (Nick Name) कल्याण सिंह (kalyan singh)
पेशा (Profession)राजनीतिज्ञ (Politician)
जन्म तिथि (Date of Birth)5 जनवरी 1932 (5 January 1932)
उम्र (2021 तक)89 वर्ष  (89 year)
जन्म स्थान (Birth Place)गांव-माधौली, तहसील-अटरौली, जिला-अलीगढ़, उत्तर प्रदेश
नागरिकता (Nationality)भारतीय (Indian)
गृह नगर ( Home Town)गांव-माधौली, तहसील-अटरौली, जिला-अलीगढ़, उत्तर प्रदेश ,भारत
मौजूदा शहर (Current City)गांव-माधौली, तहसील-अटरौली, जिला-अलीगढ़, उत्तर प्रदेश ,भारत
स्कूल (School)ज्ञात नहीं
कॉलेज (College)धर्म समाज महाविद्यालय, अलीगढ़ , उत्तर प्रदेश
शैक्षणिक योग्यता (Educational Qualification)बी0ए0 एल0एल0 बी0
सक्रिय वर्ष (Active Years)1967
परिवार ( Family)माता: सीता देवी
पिता: तेजपाल सिंह लोधी पुत्र: राजवीर सिंह (राजनेता) पुत्री: प्रभी देवी
धर्म (Religion)हिंदू
पसंदीदा खाना (Favorite food)शुद्ध शाकाहारी
पता (Address)गांव-माधौली, तहसील-अटरौली, जिला-अलीगढ़, उत्तर प्रदेश ,भारत
रूचि ( Hobbies)सामाचार सुनना, कबड्डी देखना व संगीत सुनना

शारीरिक जानकारी (Physical Information)

ऊँचाई (Height)132 एल0बी0एस लगभग
वजन (Weight)60 किग्रा
आँखों का रंग ( Eye Colour)काला
बालों का रंग (Hair Colour)काला
शारीरिक बनावटफिट

वैवाहिक और आर्थिक जानकारी (Marital Status and Net Worth Information)

वैवाहिक स्थिति (Marital Status)विवाहित
पत्नी (wife)रामवती देवी
विवाद (Controversies)नहीं
Salary (approx) 3.5 लाख महीना
Net Worth64 लाख अनुमानित

सोशल मीडिया की जानकारी (Social Media Information)

फेसबुककल्यान सिंह
ट्विटरकल्यान सिंह
इंस्टाग्रामकल्यान सिंह
विकिपीडियाकल्यान सिंह

कल्याण सिंह का राजनैतिक सफर

  • सन् 1967 में, उत्तर प्रदेश के विधानसभा सदस्य के लिये चुने गये।
  • जून 1991 में उत्तर प्रदेश के पहली बार मुख्यमंत्री पद के लिए चुने गये।
  • बाबरी मस्जिद विध्वस के कारण उस घटना से दुखी हो 6 दिसंबर 1992 को मुख्यमंत्री पद से स्तीफा दे दिया।
  • इसके पश्चात वह फिर से सन् 1997 में फिर मुख्यमंत्री पद के लिए चुने गये और 1999 तक अपने पद पर रहे।
  • बीजेपी के साथ मतभेद हो जाने के कारण बीजेपी से त्याग पत्र दे कर राष्ट्रीय क्रांति पार्टी का गठन किया।
  • अटल बिहारी बाजपेयी के अनुरोध पर सन् 2004 में बीजेपी को फिर से जाइन किया।
  • वर्ष 2004 में बुलंदशहर से बतौर सांसद नियुक्त किए गए।
  • वर्ष 2009 में बीजेपी से अलग हो गए और निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में इटाह निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ा और अपने नाम जीत दर्ज की।
  • चुनाव जीत के पश्चात् वर्ष 2009 में उन्होंने समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए।
  • फिर पुन वर्ष 2013 में उन्होंने समाजवाटी पार्टी को छोड़ फिर से बीजेपी में शामिल हो गए।
  • वर्ष 2014 में उन्होंने राजस्थान के गर्वनर के रूप में शपथ ग्रहण की।
  • वर्ष 2015 में उन्होंने हिमाचल प्रदेश के गर्वनर के रूप में शपथ ली।

कल्याण सिंह से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

माननीय कल्याण सिंह जी के बारे में एक बात जान कर शायद आप सभी को हैरानी होगी कि राजनीतिक की एक महान हस्ती जिनके आगे पीछे न जाने कितने लोग रहते थे पर इन सबके बावजूद कल्याण  सिंह जी को किसी के हाथ खाना पसंद नहीं था यही कारण था कि वे अपना खाना स्वयं बनात थे, यह चीज उनकी सादगी को भी प्रतीत करती है। जब भी कोई उनके पास उनसे मिलने जाता था तो वह कहते थे मेरी वाली चाय ले कर आना। उनके इस मिलन सार अंदाज के सब कायल थे। यही कारण था कि उन्होनें अपनी एक अलग पहचान बनाई थी।

  • राजनीति में प्रवेश करने से पहले कल्याण सिंह जी स्वयंसेवक संघ के लिए पूर्णकालिक स्वयंसेवक थे।
  • बी0ए0 एल0 एल0 बी0 करने के पश्चात उन्होंने शिक्षण कार्य भी किया।
  • जब बाबरी मस्जिद ध्वस्थ कर दी गई थी तब वह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री थे जिसके कारण उन्होने अपने पद से इस्तीफा दे दिया और जिम्मेदारी अपने सर ले ली थी।
  • जब भी वह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे, उन्होंने बोर्ड परीक्षाओं में नकल करना बंद करवा दी थी। वर्ष 1992 में, उनकी सरकार द्वारा एंटी-कॉपीिंग एक्ट 1992 को लागू किया गया।
  • जब वर्ष 1997 में बीजेपी सत्ता में आई, तब वह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने और उनकी सरकार ने स्कूलों में भारत माता की प्रार्थना और वंदे मातरम को अनिवार्य कर दिया था।
  • कल्याण सिंह के बेटे राजवीर सिंह एक राजनेता हैं जो कि वर्ष 2014 के आम चुनावों में वह संसद सदस्य के रूप में चुने गए।

FAQ’s

Q: कल्याण सिंह का जन्म कब हुआ?

5 जनवरी 1932

Q: कल्याण सिंह की मृत्यु कब हुई ?

Ans: 21 अगस्त 2021

Q: कल्याण सिंह का जन्म स्थान कहां है?

Ans: गांव-माधौली, तहसील-अटरौली, जिला-अलीगढ़, उत्तर प्रदेश ,भारत

Q: कल्याण सिंह की मृत्यु कहां हुई ?

Ans: संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्‍थान (एसजीपीजीआई)

Q: राजनैतिक करियर की शुरूआत किस पार्टी से की ?

Ans: बी0 जे0 पी0 से

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page