Krishna Janmashtami: दही हांड़ी,पूजा मुहूर्त,पूजा- विधि,दुर्लभ योग

Krishna janmashtami image
Krishna janmashtami image

नमश्कार दोस्तों जैसा की आप जानते है 30 अगस्त 2021 यानी सोमवार के दिन कृष्णा जन्माष्टमी (Krishna Janmashtami 2021) का संयोग बन रहा है । कृष्णा जन्माष्टमी जो की प्रभु श्री कृष्ण जी के जन्म दिवस के रूप में मनाया जाता है । पौराणिक मान्यताओं के अनुसार , भगवान् श्री कृष्ण जी का जन्म भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि में वृष राशि के चन्द्रमा में हुआ था । मन जाता है श्री कृष्ण जी भगवान् विष्णु जी के आठवे अवतार थे ।

इस वर्ष भगवान् श्री कृष्ण जी के जन्म पर जयंती योग भी बन रहा है जो की अपने आप में अद्बुध योग माना जाता है। जयंती योग अपने आप में बहुत ही दुर्लभ योग माना गया है जो की कई वर्षो में एक बार बनता है ।

आपको बता दे इस वर्ष जयंती योग के साथ एक और अद्बुध योग बन रहा है और वह है सर्वार्थ सिद्धि योग जो आपके व्रत को आपकी मनोकामनाओ और इक्छाओ को पूर्ण करने में सिद्ध होने में सहायक होंगे ।


Table of Contents

जन्माष्टमी 2021 पर बनने वाले अद्बुध और दुर्लभ जयंती योग

भाद्रपद कृष्ण अष्टमी तिथिप्रारंभ :- 29 अगस्त दिन रविवार को 11 बजकर 25 मिनट से
समाप्त :- 30 अगस्त को देर रात 01 बजकर 59 मिनट तक
रोहिणी नक्षत्रप्रारंभ :- सुबह 06 बजकर 39 मिनट से हो रहा है
समाप्त :- अगले दिन सुबह 09 बजकर 43 मिनट तक
हर्षण योगप्रात :- 07 बजकर 48 मिनट से
सर्वार्थ सिद्धि योगप्रारंभ :- 30 अगस्त को प्रात: 06 बजकर 39 मिनट से
समाप्त :- 31 अगस्त को प्रात: 05 बजकर 59 मिनट तक

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर व्रत, उपवास के दौरान क्‍या करें और क्‍या ना करें, यहां जानिये ध्‍यान रखने योग्‍य बातें

आज के शुभ अवसर पर विशेष ध्यान दे के प्रातः काल उठकर सबसे पहले स्नान करें स्वच्छ करें खुद को क्युकी पूजा पाठ में स्वत्छता का विशेष ध्यान रखना चाहिए ।

आज के शुभ दिन पर भक्त भगवान् श्री कृष्ण जी का व्रत रखते है जिसमे वह फलहार के तोर पर सिर्फ फलों का सेवन करते हैं और विधि विधान से पूजा करते हैं ।

आधी रात के समय दूध , दही , मक्खन , घी , पानी , शहद इत्यादि का प्रयोग करके भगवान् श्री कृष्ण जी का अभिषेक किया जाता है । आज का दिन बहुत ही शुभ मन जाता है इसीलिए आज के दिन का व्रत बेहद ही पवित्र मन गया है ।

कुछ सावधानियां और विधि का विशेष ध्यान रखें इसीलिए आपके लिए जन्माष्टमी के पर्व पर क्या न करें और क्या करें कि एक सूची निचे उपलब्ध करवा रहे हैं ।

  • भोजन दान करें
    • गरीब और ज़रूरतमंदो को भोजन दान दें साथ ही साथ गाय को भोजन खिलाये जैसा की आप जानते हैं श्री कृष्ण जी के बहुत प्रिय हैं गाय , तो अगर उनको भोजन प्रदान करेंगे तो भगवान् श्री कृष्ण जी सबसे ज़ादा प्रसन्न होंगे |

  • मांस और अंडे से बचें
    • आज के शुभ अवसर पर मांस और अण्डों से जितनी दूरी बना सकें बनाये , क्युकी इतने पवित्र दिन पर आपको शुद्ध रहना बहुत ज़रूरी है|

  • स्वच्छता रखें
    • कृष्ण जन्माष्टमी के पवन अवसर पर प्रभु श्री कृष्ण की उपासना करने के लिए आपको अपने आप को स्वच्छ रखना चाहिए इसीलिए प्रातः काल उठ कर पहले स्नान करना चाहिए और सिर्फ शरीर स्वस्थ होना ही काफी नहीं है बल्कि आपको मैं से भी स्वच्छ होना चाहिए , मैं में किसी प्रकार का कोई भी गलत भाव लेकर नहीं आना है |

जन्माष्टमी 2021 पूजा मुहूर्त

जन्माष्टमी वाले दिन बाल गोपाल की पूजा करने का शुभ मुहूर्त: 30 अगस्त सोमवार को रात 11:59 बजे से देर रात 12: 44 मिनट तक का है | इस महूर्त पर श्रीकृष्ण जन्मोत्सव मनाया जायेगा |


जन्माष्टमी पूजा

जन्माष्टमी के दिन लड्डू गोपाल श्री कृष्ण जी के बाल रूप की मूर्ति को गाय के दूध , गंगाजल , शहद के मिश्रण से अभिषेक करें और व्रत रखते हुए भगवान श्रीकृष्ण के बाल स्वरुप की आराधना करें। जलभिषेक के बाद फिर उन्हें मनमोहक सुन्दर सुन्दर वस्त्र पहनाएं।

बाल गोपाल को सजाने के लिए मोर मुकुट, बांसुरी, चंदन, वैजयंती माला, तुलसी दल आदि से उनका पूरा श्रृंगार करें । भोग के तोर पर फूल, फल, माखन, मिश्री, मिठाई, मेवे, धूप, दीप, गंध आदि अर्पित करें।अंत में बाल गोपाल श्रीकृष्ण जी की आरती करें और फिर भोग यानि प्रसाद का वितरण करें।

कुछ लोग जन्माष्टमी के दिन खीरे में रख कर बाल गोपाल श्री कृष्ण जी का जन्म करते है और विधिवत तरीके से उनका श्रृंगार करके उनको पालकी में बैठा कर झुलाते भी हैं ।

जन्माष्टमी के पर्व पर कई जगह लोग दही हांड़ी फोड़ने की प्रथा भी करते है जैसे की मथुरा में जहा दही हांड़ी को उचाई पर लटकाया जाता है और फिर उसको फोड़ने का कार्यक्रम किया जाता है ।


पूजा- विधि

  • सुबह प्रातः काल उठ कर स्नान करें |
  • स्नान के बाद अपने घर के मंदिर को साफ़ करें सभी देवी देवताओं को स्नान करायें |
  • विधिवत स्नान करके दीप प्रज्वलित करें |
  • जन्माष्टमी के पावन अवसर पर बाल गोपाल श्री कृष्ण जी की पूजा की जाती है |
  • भगवान् श्री कृष्ण जी का जलाभिषेक करें |
  • जलाभिषेक करने के बाद लड्डू गोपाल कहे जाने वाले भगवान् श्री कृष्ण जी को झूले में बैठाया जाता है |
  • झूले में बैठा कर लड्डू गोपाल को झूला झुलाया जाता है |
  • श्री कृष्ण जी के बाल अवतार को भोग अर्पित करें |
  • जन्माष्टमी के पर्व पर बाल गोपाला को बिलकुल छोटे बालक की तरह दुलार और सेवा करें |
  • रात्रि में जन्म होने के कारन रात में की गई पूजा ज़ादा फलदायक मणि जाती है |
  • रात के वक़्त सारी तईयारी करके विधिवत बाल गोपाल कृष्ण की पूजा करें |
  • बाल गोपाल कृष्ण को मिश्री , मेवा का भोग चढ़ाये |
  • बाल गोपाल लड्डू गोपाल की आरती करें |
  • जन्माष्टमी के दिन बाल गोपाल श्री कृष्ण जी की अच्छे से सेवा करें |

Top 20 Krishna Janmashtami Bhajan


श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर कविता [Krishna Janmashtmi Kavita]

काली अँधेरी में था वो उजाला
भादो पक्ष की अष्टमी का नजारा
कारावास में किलकारी गूंजी
लीलाधर को नयी लीला सूजी
किया वसुदेव को आजाद

बरसते पानी में करवाया यमुना पार
खुद यमुना ने चरण स्पर्श कर
अपने जीवन का किया उद्धार
माता यशोदा के पुत्र बनकर
बढ़ाया जिसने गौकुल का मान
मटकी फोड़कर माखन चौर बन
यशोदा माँ की खाई फटकार
 

गोपियों के संग थे रास रचैया
बने राधा के कृष्ण कन्हैया
मुरली की धुन पर चराते गैया
बनकर ग्वाला कृष्ण कन्हैया
तोड़ा घमंड इंद्र का जिसने
उठाकर गोवर्धन ऊँगली पर भैया

हुआ बाल लीलाओं का अंत
जाना पड़ा कर्तव्य पथ संग
पीछे छूटा प्रेम प्रसंग
नन्द बाबा मैया का संग

कंस को मार किया मथुरा उद्धार
भाई के संग किया यादव कल्याण
बनकर शिष्य लिया व्यवहारिक ज्ञान
संदीपनी गुरु सानिध्य में मिला सुदामा का साथ
निभाया सदा सखा संबंध
भले बने द्वारिका महाराज

महाभारत का बन सूत्र धार
किया भारत वर्ष का उद्धार
गीता का ज्ञान देकर
मनुष्य जीवन का किया उद्धार 


इसे भी पढ़ें :-

Bhavina Patel Biography in Hindi Tokyo Paralympics 2020 | भाविना पटेल जीवनी

Acko Mobile Insurance Review | एक्को मोबाइल इन्शुरन्स कैसे लें ?

PhonePe App se Bike Insurance Kaise kare 5 Minute me | फोन पे ऐप से बाइक इंश्योरेंस कैसे करें

SBI Gold loan kya hai, ब्याज दरें, online आवेदन ,शर्ते


डिस्क्लेमर

”इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना में निहित सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्म ग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारी आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना के तहत ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।”


FAQ’s

Q: कृष्ण जन्माष्टमी क्यों मनाई जाती है? Why Krishna janmashtami is celebrated?

Ans : भगवान् श्री कृष्ण जी के जन्म के उपलक्ष में कृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाती है ।

Q: कब है जन्माष्टमी 30 या 31 अगस्त को ? | Janmashtami kab hai? | janmashtami kitne tarikh ko hai?

Ans : जन्माष्टमी 30 अगस्त की रात 11:59 से शरू है और रात्रि 31 अगस्त 12:44 तक रहेगी |

Q: भाद्रपद कृष्ण अष्टमी तिथि ?

Ans : प्रारंभ :- 29 अगस्त दिन रविवार को 11 बजकर 25 मिनट से
समाप्त :- 30 अगस्त को देर रात 01 बजकर 59 मिनट तक

Q: रोहिणी नक्षत्र ?

Ans : प्रारंभ :- सुबह 06 बजकर 39 मिनट से हो रहा है
समाप्त :- अगले दिन सुबह 09 बजकर 43 मिनट तक

Q: हर्षण योग ?

Ans : प्रात :- 07 बजकर 48 मिनट से

Q: सर्वार्थ सिद्धि योग ?

Ans : प्रारंभ :- 30 अगस्त को प्रात: 06 बजकर 39 मिनट से
समाप्त :- 31 अगस्त को प्रात: 05 बजकर 59 मिनट तक

Q: कृष्ण जन्माष्टमी कब हैं?

Ans : भादव मास की अष्टमी कृष्ण पक्ष

Q: भगवन कृष्ण का जन्म स्थान कहा हैं ?

Ans : गोकुल

Q: कृष्ण कहाँ के राजा थे ?

Ans :  द्वारका

Q: भगवन कृष्ण के माता पिता का नाम क्या हैं ?

Ans : वसुदेव देवकी

Q: भगवान कृष्ण के बड़े भाई का नाम क्या हैं ?

Ans : बलराम

Q: भगवन कृष्ण के गुरु का नाम क्या हैं ?

Ans : गुरु संदीपनी


Krishna Janmashtami Images | Krishna Images Download | Krishna Images Hd | Janmashtami Images|Happy Janmashtami images |Janmashtami Quotes in Hindi

( क्लिक करके डाउनलोड करें कृष्णा की वात्सप्प स्टेटस इमेज को )Click On Image To Download Watsapp Status Krishna Images

Krishna Janmashtami Images | Krishna Images Download | Krishna Images Hd | Janmashtami Images | Happy Janmashtami images | Janmashtami Quotes in Hindi
krishna janmashtami
krishna janmashtami
krishna janmashtami
krishna janmashtami 2021
krishna janmashtami 2021
krishna janmashtami 2021
krishna janmashtami 2021
krishna janmashtami
krishna janmashtami 2021
krishna janmashtami 2021
krishna janmashtami
krishna janmashtami 2021

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page